Saturday, January 16, 2010

Meri RAMONA


किसका इंतज़ार हैं तुम्हे, क्या क़भी सोचा हैं तुमनें 
आख़िर कौन हैं वोह, आख़िर कहाँ से आयेगी वोह 
कैसे दिखती होगी वोह, कैसे मुसकराती होगी वोह 
सोंच के बस यहीं लगता हैं, कहीं तोह बनी होगी वोह 

ना तोह पता हैं नाम उसका, ना तोह उसके घर के पता
ना तोह मैं जानता हूँ उसे, ना ही मिला हूँ उससे 
बस इतना पता हैं मुझे, कहीं तोह बनी होगी वोह
बस मेरे ही लिए, मेरी RAMONA

Kaho na, Meri Ramona!